research institute for compassionate economics

Hindi Handout for government servants to promote latrine use

By r.i.c.e. January 20th, 2015

We developed a handout for a state government to help state government employees, such as ASHAs, Anganwadi Sevikas, Panchayat Secretaries and others to promote latrine use. Suggestions to improve the handout are welcome. Please feel free to use and modify the handout in your areas. Don’t miss the slogans from out handout:

1. पाँच लोगों का परिवार अगर इसमें रोज़ टट्टी करेगा,
तब भी पाँच साल तक इसका गढ्ढा नहीं भरेगा!!

2. सरकारी लैट्रीन का गढ्ढा खुद साफ़ करना है आसान!
उससे निकली सुखी खाद बढाए फसलों में जान !!

3. सैर के नाम पर खुले में टट्टी जो तुम जाओगे !
याद रखना, लौटते वक्त बीमारियाँ साथ लाओगे !!

4. नर, नारी हो या हो जवान,
शौंचालय की ज़रुरत है सबको समान!